Top 14 rules seo friendly article kaise likhe 2022

5/5 - (2 votes)
Seo friendly article

नमस्कार दोस्तों हमारे ब्लॉग के नये आर्टिकल में आपका स्वागत है। आज हम सीखेंगे। seo friendly article kaise likhe

दोस्तों आज का Most important topic है। Seo friendly article kaise likhe, seo friendly blog post kaise likhe, seo friendly content kaise likhe.

दोस्तों, एक blogger के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक है।
अगर आप एक blogger है। तो आप seo words से पहले से परिचित होंगे।

परन्तु अगर आप एक शुरुआती blogger है। जो अभी blogging करना सीख रहा है तो सबसे पहले आपको seo क्या होता है यह समझना चाहिए।

फिर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छे से समझ में आयेगा।
जो की हमारा आज का टॉपिक है। Seo friendly article कैसे लिखे।

दोस्तों, आपसे मेरे कुछ सवाल है। क्या आपका आर्टिकल, google में रैंक नही होता है। क्या आपकी blog post search engine में टॉप पर नही आ पाती है।

और क्या आप चाहते है। की आपके blog की सभी post google में first position पर रैंक करे। अगर आप चाहते है
तो ऐसा seo friendly article के द्वारा ही संभव है।

SEO एक organic traffic लाने की technique है। इसकी मदद से आप अपनी blog post को टॉप पर ला सकते है। और एक अच्छा खासा traffic प्राप्त कर सकते है।

दोस्तों, आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम सीखेंगे। top 14 rules Seo friendly article kaise likhe, seo friendly blog post kaise likhe, seo friendly content kaise likhe.

तो चलिए शुरू करते है।…..

क्या seo friendly article लिखना जरूरी है?

इसका जवाब मैं नही आप खुद देंगे। मैं आपसे कुछ questions पूछता हूँ। क्या आप अपने ब्लॉग पर organic traffic प्राप्त करना चाहते है। क्या आप अपने ब्लॉग पोस्ट को सर्च इंजन में टॉप पर रैंक कराना चाहते हैं। और क्या आप अपने ब्लॉग से earning करना चाहते है। अगर आपका answer yes है। तो deffinatly seo friendly article लिखना अनिवार्य है।

SEO Friendly Article kaise likhe {Top 14 rules}

दोस्तों, जो शुरुआती blogger होते है उन्हें लगता है कि article का seo करना बहुत मुश्किल काम होता है। परन्तु दोस्तों ऐसा नही है। हाँ मैं मानता हूँ seo बहुत बड़ी term है। जिसे एक दिन में नही सीखा जा सकता है।

परन्तु अगर आप मेरे द्वारा बताए टॉप 14 नियमो को फॉलो करके आर्टिकल लिखते है तो आप एक बहुत शांदार SEO friendly article, blog post लिख सकते है। जो गूगल में टॉप पर रैंक करेगा। तो चलिए इनके बारे में जानते है।

1. Keyword research करे

आर्टिकल लिखने से पहले keyword research करनी है। कीवर्ड रिसर्च करना बहुत ही जरूरी है अगर आप कीवर्ड research नही करते है तो आपको यह कैसे पता चलेगा कि लोग google पर क्या सर्च करते है और कितना सर्च करते है।

जिस कीवर्ड के उपर आप आर्टिकल लिखना चाहते है। उस कीवर्ड के बारे में आपको रिसर्च करने के बाद ही पता चलता है कीवर्ड रिसर्च करने पर आपको यह जानकारी मिलती है कि लोग उस कीवर्ड को कितनी बार google पर search करते है। उसके उपर Compitition कितना है कितने लोगो ने उस कीवर्ड के उपर आर्टिकल लिखे है।

2. Releted keyword का उपयोग करे

Keyword research करने के बाद आपको उसके releted कीवर्ड के बारे में भी research करनी है। Releted keyword का मतलब है कि उससे मिलते जुलते और कितने कीवर्ड है। जिनको आप उसी एक आर्टिकल में cover कर सकते हो।

Google search engine आपके आर्टिकल को समझने के लिए releted keyword, variations keyword और synonyms शब्दों का उपयोग करके आपके आर्टिकल को एक रैंक देता है। जिसके आर्टिकल में ज्यादा heading, keyword variations होंगे। Google उनको टॉप पर रखता है।

3. competitor का article analysis करे।

आर्टिकल लिखने से पहले अपने competitor का आर्टिकल देखें और उसे analysis करें। देखो उसने क्या मिस्टेक्स की है जिनका फायदा आप उठा सकते हैं और उससे अच्छा आर्टिकल लिख सकते हैं और नंबर वन रैंक प्राप्त कर सकते हैं।

आर्टिकल analysis करने के लिए मार्केट में बहुत सारे फ्री टूल्स available है। आप उनका उपयोग कर सकते हैं। एक tool मैं आपको सजेस्ट करना चाहूंगा। इसका नाम है seo Quake

यह मेरे हिसाब से बहुत ही अच्छा seo tool है। आप इससे competitor का आर्टिकल डिटेल्स में analysis कर सकते हैं। यह एक chrome-extension है। इसे क्रोम ब्राउजर में ऐड करें और इसका उपयोग करना शुरू करें।

4. Title में main keyword का उपयोग करे।

SEO के point of view के हिसाब से title को optimize करना बहुत ही जरूरी है। किसी भी Post का main part title ही होता है। इसे सही से लिखना जरूरी है। अगर आप title को optimize कर लेते है तो आपका SEO कुछ हद तक सही हो जाता है। SEO friendly title बनाने के लिए महत्वपूर्ण बिन्दु इस प्रकार है।

  • Title में numbers and years का उपयोग करे।
  • Title की शुरुआत focus keyword से करे।
  • Title में एक शब्द को बार-2 repeat न करे।
  • Title को attractive and long tail बनाये।
  • Title की लम्बाई सही रखे।

5. First paragraph में focus keyword का use करे।

आपका जो भी मेन कीवर्ड है जिसके द्वारा आप आर्टिकल रैंक कराना चाहते हैं, उसे फर्स्ट पैराग्राफ में जरूर लिखें। दूसरे शब्दों में कहें तो अपने फोकस कीवर्ड को नेचुरल तरीके से पैराग्राफ में ऐड करें।

यह seo फ्रेंडली आर्टिकल का most important rules है। ध्यान दें मैंने नेचुरल वर्ड का उपयोग किया है। मेन कीवर्ड को बार-2 repeat ना करें।

इसे जबरदस्ती कहीं भी फिट करने की कोशिश ना करें, जहां जरूरत है। पढ़ने में सही लगे वही पर इसका उपयोग करें। अन्यथा यह कीवर्ड स्टाफिंग का विषय बन जाएगा

6. H2 और H3 heading को Optimize करे

आर्टिकल को पढ़ने और समझने के लिए heading and Subheadings का उपयोग किया जाता है। Heading visiters को artical समझने में मदद करती है। इससे search engine को भी मदद मिलती है

Main title को छोड़कर बाकी जितनी भी heading होती है उसे sub-headings कहते है। पूरी post में h1 tag से लेकर h6 तक tag होते है और किसी भी artical में subheadings आपके अनुसार कितनी भी हो सकती है

h2 और h3 heading को सही से लिखना बहुत important है। ध्यान से समझे, बहुत से ब्लॉगर यहां पर क्या गलती करते हैं, वे सेम मेन हैडिंग को h2 में लेते हैं। यह सही तरीका नहीं है। ध्यान दे, आपको h2 heading को question की तरह लेना है। For example क्या seo फ्रेंडली आर्टिकल लिखना जरूरी है। H3 में आप अपना मेन टॉपिक या टाइटल ले सकते हैं।

7. URL में main keyword का उपयोग करे।

SEO friendly URL बनाने से आपकी Post google में अच्छे से रैंक करती है और आपके ब्लॉग पर बहुत ज्यादा organic traffic आता है। अगर आप अपनी Post के लिए SEO friendly URL structure नही बनाते है तो आपके ब्लॉग पर organic traffic नही आयेगा। जिसकी वजह से आपके ब्लॉग पर earning भी नही होगी ज्यादा जानकारी के लिए यह post पढे। SEO Friendly URL/Permalinks कैसे बनाये

8. Meta discription को optimize करे

Meta discription एक प्रकार का HTML tag होता है। जिसे आप अपनी website या blog के किसी भी page या Post के लिए सेट कर सकते है। इससे यह पता चलता है कि आपकी Post या पेज किसके बारे में है।
जब कोई visiters आपकी Post या पेज पर आयेगा तो उसे यह (meta discription) title के नीचे दिखाई देगा
यह एक SEO factor है। मेटा discription लिखते समय कुछ बातो का ध्यान रखे। जैसे

  • Meta discription हमेशा focus keyword से ही शुरू करें।
  • Meta discription अलग से लिखें Post में लिखा हुआ content copy करके discription में ना डाले।
  • Meta discription में character 158 और pixels 920 ही रखें।
  • Meta discription लिखते समय ज्यादातर small letters का ही उपयोग करें।
  • Meta discription में main-2 points ही लिखे

9. Internal linking करे

Internal linking में आप अपने ही pages को link करते है। जब आप अपनी website के pages को दूसरी Post में लिंक करते हो तो उसे internal linking कहते है। Internal linking करने से google के crawlr आपकी website के pages को जल्दी crawl कर लेते है। और internal linking करने से आपके users को भी फायदा होता है। चलिए इसका एक example देखते है।

For example
आप आर्टिकल लिख रहे है। Keyword research कैसे करे। अगर आपने पहले keyword के उपर आर्टिकल लिखा हुआ है तो उसे आप keyword शब्द से link कर दे जैसा की मैंने उपर किया हुआ है। इसे कहते है internal linking करना।

10. External {Outbound} Linking करे

External linking में आप दूसरों की websites का link अपनी websites में लगाते है। इसे external linking और Outbound लिंकिंग कहते है। External linking को एक example के द्वारा समझते है।

For example
Supose karo, आपका एक new blog है और आप आर्टिकल लिख रहे है SEO कैसे करे। अब आपके visiters को एक % dout हो सकता है की आप सही जानकारी दे रहे है या नही। इसके लिए आप अपने आर्टिकल में किसी ऐसी website का link लगा सकते है। जो बहुत ज्यादा trusted हो। जैसे wiki pedia.

11. Image का उपयोग करे और optimize करे।

Post के लिए सही और copy right free image का चुनाव करे। अपनी सभी Post के अंदर image का उपयोग जरूर करें। Image का alt tag वही रखे जो आपके Post का title या focus keyword है। और उसे English या hinglish में ही लिखें। Image को optimize करने के महत्वपूर्ण बिन्दु इस प्रकार है।

  • Image का size compress जरूर करे
  • Image का alt tag वही रखे जो आपका main keyword है।
  • Image के title को English या hinglish में ही लिखें।
  • Image के title में space के लिए dash ( – ) का उपयोग करे। या इसका (_) उपयोग करे।
  • Image का extention या format webp रखे।

12. छोटे-2 Sentences और paragraph लिखे।

आजकल ब्लॉगर लंबे-लंबे Sentences और paragraph लिखते हैं। इससे यूजर जल्दी बोर हो जाते हैं और आर्टिकल को बीच में ही छोड़ देते हैं उसे पूरा भी नहीं पड़ते हैं। इससे आपके ब्लॉग का बाउंस रेट बढ़ता है और आप की रैंकिंग डाउन होती है।

दोस्तों हमेशा छोटे-छोटे Sentences और paragraph लिखने की कोशिश करें। ध्यान रहे Sentences को 20 words के अंदर रखना है और पैराग्राफ तीन से चार लाइन का ही रखे। यह पढ़ने में अच्छे लगते हैं और यूजर फ्रेंडली होते हैं।

13. Important keyword को bold करे।

आर्टिकल में जितने भी कीबर्ड का उपयोग हुआ है, उन्हें बोल्ड जरूर करें और एक या दो कीवर्ड को italic करें। दूसरे शब्दों में कहें तो मेन कीवर्ड और रिलेटेड कीवर्ड को बोल्ड करें। बोल्ड किए गए words को ज्यादा importance दी जाती है।

ध्यान रहे सभी कीवर्ड को बोल्ड नहीं करना है जो ज्यादा महत्वपूर्ण है। सिर्फ उन्हें ही करें। इससे आपको दो फायदे होंगे। पहला यूजर को आर्टिकल पढ़ने और समझने में आसानी होगी और दूसरा गूगल के bots को आर्टिकल index करने में मदद मिलेगी।

14. Keyword density का ध्यान रखे।

Keyword density का मतलब है। कि आपकी पूरी post में एक keyword का कितनी बार उपयोग हुआ है। Keyword के घनत्व को ही keyword density कहते है।

For example आपने 500 words का आर्टिकल लिखा है। और इसमें Focus keyword को 16 बार लिखा है। इसका मतलब है कि आपके 500 words के आर्टिकल में keyword density 3.2% है जोकि सही नही है google की नजरों मे इसे keyword stuffing कहते है। 500 words के आर्टिकल में सही keyword density 1% से 3% तक है।

Conclusion – निष्कर्ष

I hope, अब आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा कि seo friendly article kaise likhe या seo friendly blog post kaise likhe

दोस्तों इस फील्ड में आप जितना ज्यादा काम करेंगे experiment करेंगे। और continue सीखते रहेंगे उतना ही आपका seo तगडा होता रहेगा।

दोस्तों, अगर आपको मेरे इस लेख से जरा भी फायदा हुआ हो तो please 🙏 हमें comment के माध्यम से जरूर बताये। और हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर साझा करे।
और अगर आपका कोई सवाल हो तो वो भी जरूर बताये।

FAQ’s – SEO फ्रेंडली आर्टिकल से सम्बंधित

Q1. Seo friendly आर्टिकल क्या होता है?

जब आप एक user की क्वेरी के according आर्टिकल लिखते है। दूसरे शब्दों में कहूँ तो जब कोई व्यक्ति search engine पर कुछ भी question पूछता है। और आप उसके अनुसार अपने आर्टिकल को लिखते है तो इसे seo friendly article लिखना कहते है।

Q2. मुझे कैसे पता चलेगा कि मेरा लेख seo friendly है?

जिस टॉपिक पर आपने आर्टिकल लिखा है उसे search engine यानी गूगल पर type करे और सर्च करे। अगर आपका आर्टिकल टॉप पर आता है तो समझ लेना आपका आर्टिकल seo friendly है।

Q3. Seo friendly content क्यो जरूरी है?

वैसे इसका answer मैंने उपर आर्टिकल में दे दिया है फिर भी एक बार और बता देता हूँ। अगर आपको अपने ब्लॉग पर organic traffic चाहिए। और आप चाहते है की आपकी earning अच्छी हो। तो इसके लिए आपके ब्लॉग पर traffic आना चाहिए और ट्रैफिक के के seo friendly article या content चाहिए सिंपल।

यह भी पढें।

Hello smart visitors, मेरा नाम arvind dedha है। मैं एक full time blogger है। मुझे SEO, Wordpress, Web designing, Technology, Share market etc. इन topics के उपर आर्टिकल लिखना बहुत पसन्द है।

Leave a Comment