Search engine optimization क्या होता है। और seo kaise kare

Rate this post

नमस्कार दोस्तों, हमारे इस ब्लॉग के न्यू आर्टिकल में आपका स्वागत है। आज हम सीखेंगे। सर्च इंजन optimization क्या होता है। और seo कैसे करे।

दोस्तों, आए दिन google पर ये search होता ही रहता है की SEO kya hai kaise kare, लेकिन इसकी सटीक जानकारी किसी के पास नही होती है।

आज के इस लेख मैं आपको details में बताने वाला हूँ। कि SEO kya hai इसकी पूरी जानकारी आपकी हिंदी सरल भाषा में देने वाला हूँ

दोस्तों, अगर आप एक ब्लॉग्गर है तो आपने search engine optimization के बारे में जरूर सुना होगा।

और आप यह भी जानते होंगे कि google दुनिया का सबसे बड़ा search engine tool है।

गूगल पर लोग अपनी क्वेरी solved करने के लिए आते हैं।
जैसे मैं गूगल पर search करता हूँ For example – SEO kya होता है।

अब गूगल मेरे सामने बहुत सारे result पेस कर देगा जैसा की आप उपर इमेज में देख सकते है।

आप ध्यान से देखेंगे तो ये ब्लॉग और वेबसाइट है। जिनको आप और हमारे जैसे ब्लॉग्गर ने बनाया है।

अब किसी का ब्लॉग पहले नंबर पर है और किसी का दूसरे तीसरे नंबर पर है। ऐसा क्यो हुआ।

Google ने ऐसा क्या देखा की इन वेबसाइट और ब्लॉग को अपने हिसाब से एक रेंक दे दी।

अब यहाँ पर आता है seo यानी search engine optimization

जिस ब्लॉगर ने आर्टिकल, इस क्वेरी के according लिखा है। उसका आर्टिकल नंबर वन पर है और जिसने इस क्वेरी के आस पास लिखा है उसे नीचे की रेंक मिली है।

दोस्तों, यहाँ तक आपको seo के बारे में समझ आ गया होगा इसमें कोई rokit science नही है सिम्पल है।

अब question आता है की गूगल को कैसे पता, की आपने आर्टिकल क्वेरी के according लिखा है या नही

यहाँ पर मैं आपको बताना चाहूंगा। आर्टिकल लिखने का एक तरीका होता है। आर्टिकल लिखने के कुछ नियम होते हैं आपको उन नियमों को फॉलो करना है।

तभी आप क्वेरी के हिसाब से आर्टिकल लिख पाएंगे।
पोस्ट लिखते समय आपको कुछ rules follow करने है। जिनके बारे में विस्तार से नीचे बताया गया है।

और एक आखरी बात, SEO experience से आता है आपका इस field में जितना experience बढ़ता रहेगा। आपका SEO उतना ही तगड़ा होता रहेगा।

इस आर्टिकल में हम सीखेंगे। सर्च इंजन optimization क्या होता है। इसके types और ब्लॉग वेबसाइट और पोस्ट का seo kaise kare

SEO क्या है – What is SEO in hindi

SEO kya hai aur search engine optimize kaise karte hai

SEO एक ऐसी technique है। जिसकी सहायता से आप अपने blog या website को google के search engine results में first page पर top position पर रैंक करा सकते है। आप अपने blog को optimize करके यानी SEO करके टॉप पर ला सकते है इसे SEO कहते है।

आप अपने Post के Pages को optimize करके अपनी Post को google के Search results में number one पर ला सकते है। अपने blog पर traffic लाने का यह सबसे अच्छा तरीका है।

अगर सरल भाषा में कहूँ तो SEO एक नियम की तरह है। अगर आप post लिखते समय इन नियमो का पालन करते है तो आप अपने ब्लॉग को google के search results में number one पर ला सकते है

SEO की full form

SEO की full form ” Search engine optimization ” है।

SEO meaning in hindi

Website के pages को optimize करना, Rules और regulations के according content लिखना, URL व heading subheadings अच्छे से लिखना, focus keyword का सही उपयोग करना, ये सब SEO की meaning कहलाते है

SEO के प्रकार – Types of SEO in hindi

SEO types सबके लिए अलग अलग हो सकते है लेकिन मेरे लिए SEO के types तीन है। तो चलिए इनके बारे में step by step जानते है।

On Page SEO

Off Page SEO

Technical SEO

ब्लॉग के लिए SEO क्यों जरूरी है।

ब्लॉग को लोगो तक पहुँचाने के लिए हम SEO का इस्तेमाल करते है। SEO करने से हमारा blog Search result में number one पर आता है इससे हमरे blog पर traffic अच्छा आता है।

Number one position पर रैंक करने का मतलब है। कि आपके blog पर visiters ज्यादा संख्या में आयेंगे। Traffic अच्छा आयेगा जिससे आपके ब्लॉग की popularity बढ़ेगी और income भी अच्छी होगी। इसलिए हम SEO करते है।

SEO काम कैसे करता है।

जब भी कोई visiters web browser पर कोई भी keyword type करता है तो उसके सामने उस keyword से रिलेटेड results आ जाते है। जो की google deside करता है कि किसका ब्लॉग टॉप पर आना चाहिए।

Google deside करने से पहले यह check करता है। कि किसके blog में content अच्छा है और उस keyword से कितना मैच करता है। SEO friendly है या नही। अगर SEO friendly होगा तो google उसे Search results में टॉप पर रखेगा।

दरअसल Google की हमेशा यही कोशिश रहती है कि वह अपने users को सटीक जानकारी प्रदान कर सके।इसके लिए google निरंतर काम करता रहता है।

पोस्ट का seo kaise kare

इसका मतलब है। कि हमें artical लिखते समय किन-2 बातों का ध्यान रखना चाहिए। SEO के लिए मैं कुछ important points नीचे लिख रहा हूँ इनको follow करके आप अपने artical का SEO कर सकते है। यह एक guide है।

Title

Title लिखते समय किन-2 बातों का ध्यान रखना है। इसके लिए मैं नीचे कुछ points लिख रहा हूँ इनको ध्यान पूर्वक पढें। और Post लिखते समय इनका उपयोग करें।

  • Title लिखते समय stop words का उपयोग नही करना है।
  • Title हमेशा English या Hinglish या hindi में ही लिखना है।
  • Title में character 55 और pixels 512 ही रखें। इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें।

Meta discription

Meta discription लिखते समय कुछ महत्वपूर्ण बातें नीचे दी गई है। इनको ध्यान पूर्वक इस्तेमाल करें।

  • Meta discription में character 158 और pixels 920 ही रखें।
  • Meta discription लिखते समय ज्यादातर small letters का ही उपयोग करें।
  • Meta discription में main-2 points ही लिखे

URL आपके artical का main part होता है इससे ही आपकी Post rank करती है। इसे सही से लिखना बहुत जरूरी है। इसके लिए नीचे कुछ important points लिख रहा हूँ इनको ध्यान से use करें।

  • URL हमेशा small letters में ही लिखें।
  • URL हमेशा English या hinglish में ही लिखें।
  • URL short या long हो सकता है।
  • URL हमेशा focus keyword के साथ ही शुरू करें।
  • URL में केवल main words का ही उपयोग करें।
  • URL में stop words का उपयोग ना करें।
  • URL में character 75 ही रखें।

Image Alt tag

सभी Post के अंदर image का उपयोग जरूर करें। Image का alt tag वही रखे जो आपके Post का title है। यानी alt tag में आपको Post का main title ही लिखना है और उसे English या hinglish में ही लिखें।

Highlightes keyword

Content में जितने भी main keywords है उन्हें Bold etalic जरूर करे। इससे यह पता चलता है कि आपने अपनी Post में कितने keywords उपयोग किये है। इससे google के bots को समझने में आसानी रहेगी और आपकी Post जल्दी रैंक करेगी।

Internal linking

Internal linking में आप अपने ही pages को link करते है। जब आप अपनी website के pages को दूसरी Post में लिंक करते हो तो उसे internal linking कहते है। Internal linking करने से google के crawlr आपकी website के pages को जल्दी crawl कर लेते है। और internal linking करने से आपके users को भी फायदा होता है। चलिए इसका एक example देखते है।

External linking

External linking में आप दूसरों की websites का link अपनी websites में लगाते है। इसे external linking कहते है।

ब्लॉग वेबसाइट का seo kaise kare

इसमें हम कुछ technical चीजों को ध्यान में रखकर वेबसाइट का seo करते है। जैसे Blog की theme, blog का layout या design, और भी बहुत कुछ। और कुछ points मै नीचे लिख रहा हूँ इनका भी उपयोग करे।

Website Loading speed

आपकी website या blog की पेज की लोडिंग स्पीड फास्ट होनी चाहिए। जो users आपके blog पर आते है। अगर उनको page लोडिंग speed में परेशानी आती है तो वे आपकी website छोड़ कर दूसरों की website पर चले जायेंगे जिनकी page लोडिंग स्पीड आपसे फास्ट होगी। इससे google को एक नेगेटिव सिग्नल जायेगा जिसके कारण google आपकी Website की ranking डाउन कर देगा।

Mobile friendly theme

आपकी website की theme mobile friendly होनी चाहिए यानी आपके ब्लॉग की theme responsive होनी चाहिए जो mobile पर आसानी से open हो जाए। क्योंकि ज्यादातर users blog पढ़ने के लिए mobile का ही उपयोग करते है।

Https enable

Https एक प्रकार का secure protocol होता है। सभी website by डिफाउल्ट http में होती है अपनी website को https में convert करने के लिए आपको अपनी website में SSL certificate install करना होगा। यह कुछ hosting के plan के साथ free में आता है और कुछ hosting के plan में इसे parchase करना पड़ता है।

Robot.txt file

Robot.txt यह एक प्रकार की file होती है। इस file में कुछ code होते है जो की google के bots को यह बताते है कि कौन सा page crawl करना है और कौन सा नही करना है।

Conclusion

इस artical में आप सभी ने जाना। सर्च इंजन optimization क्या होता है। SEO kaise kare अगर मैं SEO को एक लाइन में define करूँ तो वो ये है। कि कुछ ऐसे नियम होते है। जिनको follow करके आप अपने blog को बेहतर बना सकते है। और आप सभी को तो पता ही है जो चीज अच्छी होती है। उसे सब देखना और पढ़ना चाहते है। इसलिए अपनी skills पर काम करो आपका blog अपने आप बेहतर होता चला जायेगा। आज के लिए सिर्फ इतना ही। धन्यवाद।

यह भी पढे।

Hello smart visitors, मेरा नाम arvind dedha है। मैं एक full time blogger है। मुझे SEO, Wordpress, Web designing, Technology, Share market etc. इन topics के उपर आर्टिकल लिखना बहुत पसन्द है।

Leave a Comment